ऑस्ट्रेलिया दौरे से पहले भारतीय कोच रवि शास्त्री ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड से पूर्ण अभ्यास के लिए गुजारिश की है. शास्त्री ने बीसीसीआई से मुख्य मुकाबलों से पहले कुछ अभ्यास मुकाबले खिलाने की बात कही जिससे कि भारतीय टीम मुख्य मुकाबलों से पहले परिस्थितियों से पूर्णतः परिचित हो जाये.

शास्त्री ने अभ्यास मुकाबलों का महत्व बताया

शास्त्री ने एक इंटरव्यू के दौरान अभ्यास मुकाबलों के महत्व की बात की. शास्त्री ने कहा कि वह अभ्यास मुकाबलों के खिलाफ नहीं हैं. उन्होने पहले की जीतों का ब्योरा देते हुए कहा कि अभ्यास मुकाबले काफी जरूरी हैं.
उन्होने कहा कि कोई केवल परिणाम देखता है. दूसरे टेस्ट के बाद हमने खुद को बेहतर किया. और उन्होने कहा कि क्या हम पहले मुकाबले से पहले भी खुद को बेहतर कर सकते थे?

Image credits @ Getty

पूर्व भारतीय क्रिकेटर ने बताया कि उन्होने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड से ऑस्ट्रेलिया में मुख्य मुकाबलों से पहले अभ्यास मुकाबलों के लिए सिफारिश की है.

शास्त्री अभ्यास मुकाबलों के लिए समय पर चिंतित

शास्त्री ने यह भी कहा कि मुख्य टेस्ट श्रृंखला से पहले उनके पास समय काफी कम है. हालांकि उन्होने यह जानते हुए भी अभ्यास मुकाबलों के लिए सिफारिश की है.

उन्होने पुनः इंग्लैंड दौरे का हवाला दिया. भारतीय कोच ने कहा कि जब आपका शेड्यूल इतना व्यस्त हो तब आप समय निकालने में कई बार असमर्थ हो जाते हो.

नवम्बर में भारत का ऑस्ट्रेलियाई दौरा

भारत ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 4 टेस्ट, 3 टी20 और 3 एकदिवसीय मुकाबले खेलेगा. भारत के दौरे की शुरुआत नवम्बर में टी20 खेलने से होगी और फिर 6 दिसंबर से टेस्ट श्रृंखला खेली जायेगी. तीसरा टी20 11 नवंबर को होगा जिसका मतलब यह निकलता है कि टेस्ट से पहले केवल 4 सप्ताह शेष बचे होंगे.

शास्त्री ने कहा कि वे मुख्य मुकाबलों से पहले 3-3 दिन के दो अभ्यास मुकाबलों चाहते हैं, जो कि शेड्यूल के अनुसार तो हो सकते हैं पर खिलाड़ियों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखा जायेगा तो थोड़ा मुश्किल है.