September 7, 2018
| On 4 महीना ago

शास्त्री को गावस्कर ने टोका, याद दिलाई उन्हे भारत की बड़ी विदेशी जीतें!

By Vandana Mrigwani
गावस्कर ने शास्त्री को उनकी बात पर टोका

रवि शास्त्री ने जब मौजूदा भारतीय टीम को पिछले 15-20 सालों में सबसे अच्छा विदेशी दौरा करने वाली टीम घोषित किया, उससे अगले दिन ही दिग्गज खिलाड़ी सुनील गावस्कर ने कहा कि सबसे ज्यादा जीत श्रींलंका में आई है न कि इंग्लैंड या दक्षिण अफ्रीका में.

मीडिया से प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान शास्त्री ने कहा कि, कोई भी पूर्व टीम इतना अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाई है, और हमारी टीम में खिलाड़ियों का स्तर काफी उम्दा है. पूर्व 15-20 वर्षों में यह सबसे अच्छा सुधार हुआ है.

शास्त्री को गलत ठहराते हुए गावस्कर ने कहा कि, पूर्व भारतीय टीम ने इंग्लैंड और वेस्ट इंडीज में मुकाबले जीते हैं.
उन्होने बताता की पिछली टीमों ने वेस्ट इंडीज, दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड में मैच जीते हैं.

“मुझे लगता है कि कई पूर्व कप्तानों और पूर्व टीमों ने श्रीलंका में जीत का परचम लहराया, पर उन्होने वेस्ट इंडीज, इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका में भी 15-20 सालों में मुकाबले जीते हैं. मुझे लगता है कि यह बस शास्त्री का नजरिया है और वह बस अपना नजरिया दिखला रहें हैं. पर मैं कह सकता हूं कि टीमों ने 1980 में भी मुकाबले जीते हैं. “

सुनील गावस्कर ने कहा कि राहुल द्रविड़ को उनकी कप्तानी और प्रदर्शन का काफी कम श्रेय दिया जाता है. गावस्कर ने कहा कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भारत की पहली जीत उन्ही की कप्तानी में मिली थी. उन्होने वेस्ट इंडीज के खिलाफ भी जीत हासिल की थी. उन्होने 2007 में इंग्लैंड में शृंखला भी जीती थी. फिर भी उनकी कप्तानी को उतना नहीं सराहा जाता.

उन्होने आगे कहा कि, “मैं जरूर कहूंगा कि श्रींलंका अपने घर पर काफी खतरनाक टीम है और उन्हे हराने पर भारतीय टीम को श्रेय मिलना भी चाहिए. पर गौरतलब है कि इस टीम ने अब तक दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कोई जीत हासिल नहीं की है.”

गावस्कर ने पृथ्वी शा को टीम में जोड़ने पर समर्थन दिया
गावस्कर ने पृथ्वी शा को टीम में शामिल करने के लिए समर्थन दिया. उन्होने कहा कि ओवल में पृथ्वी शा को शामिल करना चाहिए.
Vandana Mrigwani

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked*