भारत और इंग्लैंड के बीच खेले जा रहे तीन T20 मैचों की सीरीज़ के दूसरे मैच में एलेक्स हेल्स के 41 गेंदों में खेली गयी 58 रन की शानदार पारी के दम पर इंग्लैंड ने भारत को हरा का सीरीज़ में बराबरी कर ली। अंतिम क्षणों में एलेक्स हेल्स ने भावनाओ पर काबू रखते हुए सीरीज 1-1 से बराबर करने में अहम भूमिका निभाई।

भारतीय 20 ओवर में इंग्लैंड के लिए 149 रन का लक्ष्य रखने में कामयाब रहा था। अंतिम ओवर में इंग्लैंड को जीत के लिए 12 रन की ज़रूरत थी। हेल्स ने 20वें ओवर की पहली ही गेंद पर ज़बर्दस्त छक्के और दूसरी गेंद पर चौके जड़ते हुए जीत इंग्लैंड के लिए लक्ष्य को आसान कर दिया। अंत में डेविड वैली ने एक रन के साथ मैच को 2 गेंद बाकी रहते इंग्लैंड की झोली में डाल दिया। इंग्लैंग की पारी के दौरान इनके ऊपरी क्रम के बल्लेबाज़ जोश बटलर और जेसन रॉय सस्ते में ही आउट हो कर पवेलियन चले गए थे।

इस मैच में पिछले मैच में अपनी गेंदबाज़ी से इंग्लिश बल्लेबाज़ों को नचाने वाले कुलदीप यादव बुरी तरह से नाकाम रहे। कुलदीप यादव ने 4 ओवर में 34 रन लुटा दिए और कोई विकेट भी हासिल नही कर सके। भुवनेश्वर कुमार ने शुरुआत के अपने 3 ओवर में काफी कसी गेंदबाज़ी की थी लेकिन लास्ट के ओवर में खुद पर कंट्रोल नही रख सके जिस कारण भारत को हार का मुँह देखना परा।

इससे पहले, भारतीय टीम की शुरुआत पहले बल्लेबाजी करते हुए काफी खराब रही और भारत ने अपने 3 विकेट पॉवरप्ले में ही मात्र 22 रन पर खो दिए। विषम परिस्थितियों में कप्तान विराट कोहली के 38 गेंदों में खेली गयी 47 रन की पारी और इंतिम के ओवरों में धोनी द्वारा बनाए गए 32 रन की मदद से भारत 20 ओवर में 5 विकेट खो कर 148 रन बनाने में कामयाब रहा । धोनी और हार्दिक पांड्या ने अंतिम ओवर में महत्वपूर्ण 22 रन जोड़े। इंग्लैंड की ओर से डेविड वैली सबसे कामयाब गेंदबाज रहे। 4 ओवर में इन्होंने 1 विकेट लेते हुए सिर्फ 18 रन खर्च किए।

मैच के बाद इंग्लैंड के कप्तान मॉर्गन ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा की हेल्स को टीम में शामिल करने का फैसला एक कठिन फैसला था। उन्होंने पहले भी इस तरह की वापसी की है। उन्हें टीम के बेहतर संयोजन बनाने और एक मज़बूत प्लेइंग इलेवन के लिए शामिल किया गया।

मॉर्गन ने आगे कहा की हेल्स एक बेहतरीन प्लेयर हैं जो की खास कर T20 में एक बड़ा अंतर पैदा करते हैं। इस तरह की पारी काफी महत्वपूर्ण है। साथ ही मॉर्गन ने कहा की उनकी टीम ने पिछले मैच के मुकाबले इस मैच में बेहतर खेल दिखाया साथ ही इस मैच में शॉट्स बड़ी सफाई से खेले जा रहे थे।

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने मैच के बाद कहा की इंग्लैंड ने होमवर्क अच्छे से किया हुआ था जिसकी वजह से उन्होंने अच्छा खेल दिखाया। कोहली ने कहा की मध्य के ओवरों ने मैच में अधिक अंतर पैदा किया। लिअम प्लांकेट और डेविड वेली ने स्पेल के 4 – 4 ओवर में 17 और 18 रन दे कर 1 – 1 विकेट हासिल करते हुए भारतीय टीम को 148 रन तक ही सीमित रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। इंग्लैंड के गेंदबाज़ो का सामना कुछ हद तक कोहली और धोनी ही कर पाए, इन दोनो ने ही कुछ बड़े शॉट लगाने में कामयाबी पाई। T20 सीरीज़ का अंतिम और निर्णायक मैच 8 जूलाई को ब्रिस्टल में खेला जाएगा।