आज के ही दिन क्रिकेट में रचा गया था इतिहास,भारतीय मूल के इस बल्लेबाज ने एक दिन में जड़े थे दो शतक

By Shubham Mishra @shub4438

क्रिकेट के मैदान पर यू तो आए दिन कई रिकॉर्डस बनते और टूटते रहते है। लेकिन 22 गज की इस पिच पर कुछ ऐसे भी रिकॉर्डस बने है, जिनको तोड़ना असंभव से नजर आता है। ऐसा ही एक रिकॉर्ड बना था 22 अगस्त 1896 को जब भारतीय मूल के बल्लेबाज रणजीत सिंहजी ने इंग्लैंड की घरेलू टीम ससेक्स से खेलते हुए एक ही दिन के अंदर दो शतक जड़ क्रिकेट के इतिहास में ऐसा रिकॉर्ड बनाया था जो आजतक बड़े से बड़ा बल्लेबाज नहीं तोड़ सका है।

रणजीत सिंहजी का अनोखा कारनामा

भारतीय मूल के स्टार खिलाड़ी रहे रणजीत सिंहजी ने 22 अगस्त 1896 यानि आज के ही दिन क्रिकेट के इतिहास में ऐसा रिकॉर्ड कायम किया था,जो आजतक नहीं टूट सका है। रणजीत सिंहजी ससेक्स से खेलते हुए यॉर्कशायर के खिलाफ एक दिन में दो शतक जड़ दिए थे।

इस मुकाबले में यॉर्कशायर ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 407 रन बनाए थे, जिसके जवाब में रणजीत की शानदार शतकीय पारी के बावजूद भी ससेक्स की टीम 191 रनों पर सिमट गई थी। इसके बाद ससेक्स की टीम को फॉलोऑन खेलना पड़ा था और फिर दूसरी पारी में भी रणजीत सिंहजी ने शतक जड़ा था। उनके शतक की बदौलत ससेक्स की टीम इस मैच को बचाने में कामयाब रही थी।

भारत के लिए नहीं खेला कोई मुकाबला

रणजीत सिंहजी ने इंग्लैंड के लिए टेस्ट मैचों में जुलाई 1896 में डेब्यू किया था, उन्होंने अपने पहले ही मुकाबले में शानदार शतकीय पारी खेली थी। रणजीत सिंहजी ने इंग्लैंड के लिए कुल 15 टेस्ट मैच खेले जिसमे उन्होंने 44 की दमदार औसत से कुल 989 रन बनाए, जबकि उनका सर्वोच्च स्कोर 175 रन का रहा। हालांकि रणजीत ने भारत के लिए कभी कोई भी मैच नहीं खेला।

यह भी पढ़े – बीसीसीआई पर होगी जमकर धनवर्षा, इस कंपनी ने खरीदे दुगने दाम में टाइटल राइट्स

रणजीत सिंहजी के नाम पर शुरु हुई रणजी ट्रॉफी

भारत की मशहूर घरेलू क्रिकेट टूर्नामेंट रणजी ट्रॉफी का नामकरण रणजीत सिंहजी के नाम पर हुआ था। रणजी ट्रॉफी का आगाज 4 नवंबर 1934 का हुआ था, जिसके पहले मैच में चेन्नई और कर्नाटक की टीमें एक दसरे के आमने सामने हुई थी।

पहले रणजी का मुकाबला तीन दिन का होता था और दिलचस्प बात यह है की रणजी का पहला मैच एक ही दिन में खत्म हो गया था, उस मैच में पहले ही दिन कुल 30 विकेट गिरे थे।

Shubham Mishra @shub4438

Die Hard fan of cricket and love to write for sports...