कोहली की वेबसाइट हुई हैक 
विराट कोहली की औपचारिक वेबसाइट को बांग्लादेशी फैंस द्वारा हैक कर लिया गया था|  गौरतलब है कि यह बदला लेने के लिए किया गया था|  एशिया कप के दौरान जब बांग्लादेश के सलामी बल्लेबाज लिटन दास बल्लेबाजी कर रहे थे तब उन्हे महेंद्र सिंह धोनी ने स्टंप आउट कर दिया था. हैकर का मानना है कि अंपायर द्वारा दिया गया आउट का फैसला गलत था|

यह फैसला काफी ज्यादा विवादित था और थर्ड अंपायर द्वारा काफी समय लेने के बाद लिटन दास को आउट घोषित कर दिया गया था. थर्ड अंपायर के फैसला भारतीय पक्ष में था| और इससे बांग्लादेश के फैंस काफी निराश हुए थे इस स्टंपिग की तस्वीर को भी सोशल मीडिया पर काफी वायरल किया गया था और कहा गया था कि यह नॉट आउट है और अंपायर का फैसला गलत है|
हैक करने का कारण 
हैकर्स ने विराट की वेबसाइट को हैक करके वहां आईसीसी के लिए एक संदेश छोड़ा था| गौरतलब है कि यह संदेश आईसीसी को गलत अंपायरिंग के लिए आगाह करने के लिए था|  तस्वीर पर लिखा संदेश था कि, “
” डियर आईसीसी, क्या क्रिकेट शालीनता का खेल नहीं है? क्या हर टीम को बराबर अधिकार नहीं मिलने चाहिए? क्या आप बताएँगे कि यह किस प्रकार आउट था? अगर आपने गलत अंपायरिंग के खिलाफ कुछ नहीं किया और विश्व के सामने माफी नहीं मांगी तो बार बार हैक होने के लिए तैयार रहिए. “

विरोध 
इस हैक को हैकिंग समूह की ओर से विरोध के रूप में देखा जा सकता है| गौरतलब है कि यह समूह सीएसआई ‘साइबर सिक्यूरिटी एंड इंटेलिजेंस’ के नाम से है| समूह ने अपने संदेश में खास तौर पर यह दर्शाया है कि वे विराट या अन्य किसी भारतीय के खिलाफ नहीं है वे केवल गलत फैसले के खिलाफ हैं|
उनके अनुसार यह काफी गलत फैसला था और बांग्लादेश के साथ अन्याय हुआ है| लिटन दास अच्छी बल्लेबाजी कर रहे थे और उनका आउट होना बांग्लादेश की हार का मुख्य कारण था. हैकर्स के अनुसार भारत के फैन्स ज्यादा होने के कारण नतीजे को उनके पक्ष में किया गया|

हैकर्स ने संदेश में अपनी भावना जाहिर करते हुए कहा कि वे किसी भी भारतीय के खिलाफ नहीं हैं. उनका संदेश था कि
“आदरणीय भारतीय भाइयों बहनों, हम आपके बिल्कुल भी खिलाफ नहीं हैं| पर जरा सोचिये. हम केवल इतना कह रहे हैं कि क्या क्रिकेट शालीनता का खेल नहीं हैं? क्या हर क्रिकेट खेलने वाले देश को बराबर नजर से नहीं देखना चाहिए?”